हाइलाइट्स

भारत ने पहले टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में पाकिस्तान को 5 रन से हराया
भारतीय टीम ने फाइनल से पहले पाकिस्तान को लीग मैचों में बॉल आउट में हराया था
भारतीय टीम 2007 टी20 वर्ल्ड कप में न्यूजीलैंड से सिर्फ एक मैच हारी थी

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट के लिए 24 सितंबर बेहद खास है. आज से ठीक 15 साल पहले भारतीय क्रिकेट टीम ने महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में दक्षिण अफ्रीका में इतिहास रचा था. युवा टीम इंडिया तब फाइनल में पाकिस्तान (India vs Pakistan) को हराकर पहली बार आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) अपने नाम करने में सफल रही थी. भारतीय टीम ने यह उपलब्धि दिग्गज सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली और अनिल कुंबले के बगैर हासिल की थी.

साल 2007 में वेस्टइंडीज में खेले गए वनडे वर्ल्ड कप में पहले ही दौर में भारतीय टीम को बांग्लादेश से हार मिली थी. इसके बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने महेंद्र सिंह धोनी के हाथों में युवा टीम इंडिया की अगुआई की जिम्मेदारी दे दी. रांची के राजकुमार यानी धोनी ने भी बोर्ड को निराश नहीं किया. भारतीय टीम को तब टूर्नामेंट में खिताब का दावेदार नहीं माना जा रहा था. लेकिन टीम ने इंडिया ने अपने शानदार प्रदर्शन से सबको चौकाते हुए चमचमाती ट्रॉफी अपने नाम कर ली.

यह भी पढ़ें:नाबाद 46 रन की तूफानी पारी खेलने के बाद बोले रोहित शर्मा- मुझे तो सच में भरोसा…

VIDEO: दिनेश कार्तिक को यूं ही नहीं कहते टीम इंडिया का बेस्ट फिनिशर, देखिए कैसे छक्के-चौके से दिलाई जीत

गौतम गंभीर ने खेली 75 रन की पारी
भारतीय टीम ने फाइनल तक का सफर तय करने में मेजबान दक्षिण अफ्रीका सहित वनडे वर्ल्ड चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को भी मात दी थी. खिताबी मुकाबले धोनी ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया. भारत ने 20 ओवर में 5 विकेट पर 157 रन बनाए. भारत की ओर से गौतम गंभीर ने सबसे अधिक 75 रन की पारी खेली.

जोगिंदर शर्मा की गेंद पर गच्चा खा गए मिस्बाह उल हक
158 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान की टीम ने पहले ओवर में ही मोहम्मद हफीज का विकेट गंवा दिया. एक समय पाकिस्तान ने 104 रन पर अपने सात विकेट गंवा दिए थे. उसके बाद 4 ओवर बचे थे. हालांकि एक छोर पर मिस्मबाह उल हक डटे हुए थे. पाकिस्तान की जीत की उम्मीद मिस्बाह पर टिकी हुई थी. मिस्बाह ने 17वें ओवर में हरभजन सिंह की गेंदों पर तीन छक्के जड़ दिए.

इसके बाद दूसरे छोर से सोहेल तनवीर ने भी एस श्रीसंत की गेंदों पर दो छक्के मारे. पाकिस्तान को आखिरी ओवर में जीत के लिए 13 रन की दरकार थी जबकि उसके 9 विकेट गिर चुके थे. धोनी ने आखिरी ओवर में गेंद जोगिंदर शर्मा को थमाई. मिडियन पेसर जोगिंदर के ओवर की दूसरी गेंद पर छक्का जड़ दिया. अब पाकिस्तान को 4 गेंद पर 6 रन की जरूरत थी. जोगिंदर ने अगली गेंद ऐसी फेंकी जिसपर मिस्बाह ने बड़ा शॉट खेलने की कोशिश की लेकिन वह उसमें सफल नहीं हो सके. मिस्बाह के इस कैच को बाउंड्री के नजदीक श्रीसंत ने लपक लिया और भारतीय टीम 5 रन से पाकिस्तान को हराकर वर्ल्ड चैंपियन बन गई.

Tags: India Vs Pakistan, Indian Cricket Team, Misbah ul haq, Ms dhoni, S Sreesanth, T20 World Cup, Team india





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.