नई दिल्ली. केरल के विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन ने अपनी बल्लेबाजी पर बड़ा बयान दिया है. सैमसन ने कहा है कि पिछले कुछ सालों में उन्होंने खुद को इस तरीके से तैयार किया है कि उन्हें कोई भी किसी एक भूमिका में खेलने वाला खिलाड़ी का तमगा नहीं दे सकता. सैमसन टी20 वर्ल्ड कप टीम में जगह नहीं बना सके हैं. हालांकि, वह समझते हैं कि भारतीय क्रिकेट के दिन प्रतिदिन बेहतर होने से राष्ट्रीय टीम के ‘एलीट’ 15 खिलाड़ियों में शामिल होना अब पहले से कहीं ज्यादा चुनौतीपूर्ण होता जा रहा है.

संजू सैमसन ने कहा, ‘‘मैंने पिछले कई सालों से विभिन्न भूमिकाएं निभाने पर काम किया है. मैं सहजता से बल्लेबाजी क्रम में किसी भी जगह बल्लेबाजी कर सकता हूं.’’ सैमसन का मानना है कि सफल होने के लिए एक खिलाड़ी को लचीला होना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘आपको खुद को एक ही स्थान पर समेटकर नहीं रखना चाहिए. आप लोगों को यह नहीं कह सकते, मैं सलामी बल्लेबाज हूं या मैं फिनिशर हूं. पिछले तीन-चार वर्षों में विभिन्न भूमिकाओं में खेलते हुए मेरे खेल में नया आयाम जुड़ गया है.’’

इस 27 साल के खिलाड़ी ने अभी तक सात वनडे और 16 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं. उन्होंने कहा कि भारतीय टीम में एक स्थान तलाशना चुनौतीपूर्ण हैं और इसके लिए भी काफी प्रतिस्पर्धा है.

वर्ल्ड कप में गहरा घाव दे सकते हैं भुवनेश्वर कुमार ,आईपीएल से लेकर इंटरनेशनल तक डेथ ओवरों में टीम की नाव डुबोई

सैमसन ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘यह वास्तव में चुनौतीपूर्ण हो गया है. भारतीय टीम में एक स्थान तलाशना वास्तव में चुनौतीपूर्ण है. टीम में शामिल खिलाड़ियों के बीच आपस में काफी प्रतिस्पर्धा है. जब ये चीजें होती हैं तो खुद पर ध्यान लगाना महत्वपूर्ण है.’’

World Test Championship Final: लॉर्ड्स और ओवल में खेला जाएगा वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल

उन्होंने साथ ही कहा, ‘‘मैं जिस तरह से प्रदर्शन कर रहा हूं, उससे खुश हूं. मैं सुधार करना चाहता हूं.’’ सैमसन गुरुवार से न्यूजीलैंड ए के खिलाफ लिस्ट ए के तीन मैचों में भारत ए की अगुआई करेंगे.

Tags: India a, India vs new zealand, Sanju Samson, T20 World Cup 2022, Team india



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.