हाइलाइट्स

सरपंच संघ के मुताबिक पशुपालन विभाग की रिपोर्ट पूरी तरह कागजी
राजस्थान ग्राम विकास अधिकारी संघ ने पशुधन की मौत के आंकड़े किए जारी

जयपुर. राजस्थान में लंपी स्किन डिजीज (Lumpy Skin Disease) के कारण संक्रमित होकर अकाल मौत की आगोश में समा रही गायों की मौत के आंकड़ों पर बड़ा विवाद सामने आया है. सरपंच संघ और वीडीओ संघ ने पशुपालन विभाग के 58 हजार पशुधन की मौत के आंकड़ों पर गंभीर आपत्ति जताई है. लंपी बीमारी से मृत पशुधन को दफनाने के लिए राज्य सरकार ने ग्राम पंचायत के साथ-साथ स्थानीय निकायों को जिम्मेदारी दी सौंपी हैं. ग्राम विकास अधिकारी संघ व सरपंच संघ ने पशुपालन विभाग द्वारा लंपी वायरस संक्रमण से हो रही मौत पर फर्जीवाड़े का गंभीर आरोप लगाया है. वीडीओ संघ ने सिर्फ ग्रामीण इलाकों में ही 6 लाख से ज्यादा पशुधन की मौत का दावा किया है. वहीं राजस्थान में पशुधन की मौत के मामले में सरपंचों ने 7.5 लाख गायों की मौत का दावा किया है.

पशुपालन विभाग द्वारा लम्पी स्किन डिजीज से ग्रामीण इलाकों के साथ-साथ शहरों में सिर्फ 58 हजार पशुओं की मौत की बात कही गई है. ग्राम विकास अधिकारी एवं सरपंच संघ के आरोपों पर पशुपालन विभाग के अतिरिक्त निदेशक डॉ. नरेन्द्र मोहन सिंह का कहना है कि पशुधन सहायक महामारी में पशुओं का उपचार करने, वैक्सीनेशन में व्यस्त रहने के कारण लंपी स्किन डिजीज संक्रमण से पशुधन के मौत के आंकड़ों में कुछ अंतर हो सकता है. इसकी जांच कराई जाएगी.

पशुपालन विभाग के मौत के आंकड़े पूरी तरह फर्जी
दूसरी ओर राजस्थान ग्राम विकास अधिकारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष महावीर शर्मा और राष्ट्रीय सरपंच संघ के प्रदेश प्रवक्ता हनुमान प्रसाद झाझड़ ने सात लाख से ज्यादा पशुओं की मौत का दावा किया है. सरपंच और ग्राम विकास अधिकारियों ने पशुपालन विभाग के आंकड़ों को फर्जी बताया है. सरपंच संघ के मुताबिक पशुपालन ने रिपोर्ट कागजों में ही बना ली है. दूसरी ओर सरपंचों और ग्राम विकास अधिकारियों का कहना है की मृत पशु को दफनाने में दो से चार हजार रुपये का खर्च आ रहा है.

जिला पशुपालन विभाग की रिपोर्ट – ग्राम विकास अधिकारी संघ की रिपोर्ट
नागौर जिला                  8404                            43616
गंगानगर जिला              4867                          28246
जोधपुर जिला                4046                           1,26,748
अजमेर जिला                3994                           16241
जयपुर जिला                 3567                            14239
हनुमानगढ जिला           3156                            47940
चूरू जिला                     3663                             31468
सीकर जिला                   3478                             13419
जालौर जिला                  3015                              42432
बाड़मेर जिला                 2816                               68564
बीकानेर जिला                2846                              1,16,678
पाली जिला                   1982                              18692
झुंझुनूं जिला                  1808                             9332
उदयपुर जिला               1395                              1687
भीलवाड़ा जिला            1508                             4332
टोंक जिला                   1238                            1392
जैसलमेर                      982                                12567
अलवर                         1104                               717
सिरोही                          799                                   1392
राजसमंद                        795                                857
दौसा                            640                                  823
सवाई माधोपुर                 374                             28246
चित्तौड़गढ                      367                            1438
भरतपुर                         357                                798
बांसवाड़ा में                  196                                676
डूंगरपुर में                   172                                147
प्रतापगढ                     158                                 857

Tags: Animal husbandry, Jaipur news, Lumpy Skin Disease, Rajasthan news in hindi



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.