लंदन. ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की सोमवार को राजकीय अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए लंदन पहुंचे अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन और उनकी पत्नी जिल बाइडन ने उन्हें श्रद्धांजलि दी. बाइडन अपनी पत्नी के साथ रविवार को लंदन के वेस्टमिंस्टर हॉल में पहुंचे और दिवंगत महारानी के ताबूत के पास निर्धारित स्थान पर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी. उन्होंने क्रास का चिन्ह बनाया और वहां चुपचाप खड़े होकर अपना हाथ अपने सीने पर रख लिया. वेस्टमिंस्टर हॉल में दिवंगत महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का पार्थिव शरीर रखा गया है. महारानी की सोमवार को राजकीय अंत्येष्टि की जाएगी. बाइडन के रविवार शाम ब्रिटेन के महाराजा चार्ल्स तृतीय और क्वीन कॉन्सर्ट कैमिला द्वारा बकिंघम पैलेस में विश्व के नेताओं के लिए आयोजित एक स्वागत कार्यक्रम में भी हिस्सा लेने की उम्मीद है.

बाइडन ने महारानी एलिजाबेथ को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि वह हमेशा मां की याद दिलाती थीं. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि वह जिस तरह से देखती थीं. जैसे वो पूछ रही हों कि ‘क्या तुम ठीक हो? क्या मैं आपके लिए कुछ कर सकती हूँ? आपको किस चीज़ की जरूरत है?. राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि महारानी एलिजाबेथ हमेशा उनकी मां की याद दिलाती हैं. महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार की पूर्व संध्या पर पूरे ब्रिटेन में लोगों ने एक मिनट का मौन रखा. सरकार ने दिवंगत महारानी के प्रति राष्ट्रीय स्तर पर सम्मान प्रदर्शित करने के लिए लोगों से घरों में,पड़ोसियों के साथ अथवा स्थानीय स्तर पर आयोजित कार्यक्रमों में एक मिनट का मौन रखने को कहा था.

महारानी की अंत्येष्टि में दुनियाभर के शाही परिवार के सदस्यों समेत विश्व के करीब 500 नेता शामिल होंगे। अंतिम संस्कार की रस्म वेस्टमिंस्टर एबे में की जाएगी, जहां करीब 2,000 लोगों के उपस्थित रहने की संभावना है। अंतिम संस्कार की रस्में स्थानीय समयानुसार सुबह पूर्वाह्न 11 बजे शुरू होंगी और एक घंटे बाद दो मिनट का मौन रखे जाने के साथ संपन्न हो जाएंगी. (इनपुट एएनआई)

Tags: Joe Biden, Queen Elizabeth



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.