हाइलाइट्स

हावड़ा-भुवनेश्वर जन शताब्दी एक्सप्रेस शनिवार को ओडिशा के भद्रक के पास पटरी से उतर गई.
इस घटना में किसी के ताहत होने की सूचना नहीं है.
पटरी पर अचानक एक बैल आ गया था और पायलट को अचानक ब्रेक लगाना पड़ा था.

भुवनेश्वर. ओडिशा के भद्रक में शनिवार को बड़ा हादसा होते-होते टल गया. दरअसल हावड़ा-भुवनेश्वर जन शताब्दी एक्सप्रेस शनिवार को ओडिशा के भद्रक के पास पटरी से उतर गई, जिसके बाद ट्रेन में सवार यात्रियों के चेहरे के रंग उड़ गए. ईस्ट कोस्ट रेलवे (ईसीओआर) के अनुसार इस घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है. TOI के अनुसार यह घटना शाम करीब 5 बजकर 50 मिनट पर हुई. घटना तब हुई जब पटरी पर अचानक एक बैल आ गया था और पायलट को अचानक ब्रेक लगाना पड़ा था. घटना के दौरान ट्रेन क्रॉसिंग पर थी जिससे इंजन के साथ लगे बोगी के आगे के दो पहिए पटरी से उतर गए. ब्रेक लगाने के बावजूद ट्रेन बैल से टकरा गई. घटना के बाद अधिकारियों के साथ रेलवे कर्मचारी मरम्मत कार्य के लिए मौके पर पहुंचे.

ट्रेन से टकराए बैल की मौत हो गई है या जीवित है, फिलहाल इसकी कोई सूचना नहीं है. ईसीओआर के अधिकारियों ने कहा कि लाइन को चालू कर दिया गया है. आधिकारिक बयान के अनुसार प्रभावित डिब्बे को अलग करने और ट्रेन को अपनी यात्रा फिर से शुरू करने में लगभग एक घंटे का समय लगा. सीटिंग कम लगेज रैक (एसएलआर) एक को छोड़कर सभी यात्री डिब्बे पटरी पर थे.

ईसीओआर के अधिकारियों ने कहा कि इस रेलवे सेक्शन में डबल लाइन है, इसलिए इस घटना से ट्रैफिक पूरी तरह प्रभावित नहीं हुआ. आधिकारिक बयान में कहा गया है कि रेलवे सेक्शन में रात में काम करने के लिए एक प्रशिक्षित टीम है. इसलिए सब कुछ ठीक करने में कोई कठिनाई या देरी नहीं हुई.

मालूम हो कि एक ट्रेन में दो एसएलआर कोच होते हैं. पहला इंजन के बगल में होता है तो दूसरा ट्रेन के अंत में होता है. घटना के बाद शाम 7.10 बजे मरम्मत का काम पूरा हुआ और 7.30 बजे ट्रैक को फिट घोषित किया गया. उसके बाद रात 8.05 बजे के बाद ट्रेन स्टेशन से रवाना हुई.

Tags: Indian railway, Odisha, Train accident





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.