नई दिल्ली. भारत में विलुप्त घोषित किए जाने के 70 साल बाद चीतों को दोबारा बसाने की कोशिशों के तहत नामीबिया से 8 चीते शनिवार को विशेष विमान से भारत पहुंचे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें सुबह करीब 11.30 बजे मध्य प्रदेश के श्योपुर में स्थित कुनो नेशनल पार्क में बनाए गए विशेष बाड़ों में छोड़ा.

इन चीतों को ‘टेरा एविया’ के एक बेहद खास विमान में नामीबिया से पहले ग्वालियर लाया गया, जहां से दो हेलिकॉप्टर के जरिये इन सभी को कुनो नेशनल पार्क पहुंचाया गया. इस मालवाहक बोइंग विमान ने शुक्रवार रात को नामीबिया से उड़ान भरी थी.

इस प्लेन के अंदर का एक बेहद खास वीडियो भी अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें दिख रहा है कि लगभग 10 घंटे की लगातार यात्रा के दौरान चीतों को लकड़ी के बने विशेष पिंजरों में बंद करके रखा गया था. वहीं आगे के हिस्से में सीट लगी थी, जिस पर इस पूरे मिशन की निगरानी कर रहे वन्य जीव विशेषज्ञ बैठे थे. वीडियो बनाने वाला शख्स भी यह कह रहा है कि जिनके लिए यह पूरा मिशन अंजाम दिया जा रहा है वे इकॉनमी में बैठे हैं. हालांकि इसके साथ ही वह उम्मीद जताता है कि अगली बार उन्हें ही फर्स्ट क्लास में रखा जाएगा.

देखें वीडियो:-


जमीन पर सबसे तेज दौड़ने वाले वन्यजीव को इस दौरान बेहोश रखने के लिए एक ‘ट्रैंक्विलाइज़र’ दिया गया, जिसका असर तीन से पांच दिनों तक रहता है. एक अधिकारी ने कहा कि यात्रा के दौरान चीते बिना भोजन के रहे और उन्हें बाड़े में छोड़े जाने के बाद खाने के लिए कुछ दिया जाएगा.

सोशल एक वायरल वीडियो में चीतों के बक्सों ग्वालियर एयरपोर्ट पर बोइंग विमान से उतारते और फिर हेलीकॉप्टरों में ट्रांसफर करते हुए देखा गया. हेलीकॉप्टर के जरिये इन चीतों को ग्वालियर एयरपोर्ट से करीब 165 किलोमीटर दूर पालपुर फिर कुनो लाया गया. (भाषा इनपुट के साथ)

Tags: Asiatic Cheetah, PM Narendra Modi Birthday





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.