कीव. यूक्रेन-रूस के युद्ध को 7 महीने से ज्यादा हो गया है, यूक्रेन अपने शहरों पर वापस कब्जा कर रहा है. पिछले 1 महीनों में यूक्रेनी सैनिकों ने जबरदस्त पलटवार किया है और करीब  6,000 वर्ग किलोमीटर का अपना हिस्सा वापस ले लिया है. एक रिपोर्ट से खुलासा हुआ कि यूक्रेन ने शुक्रवार को देश के पूर्व में रूसी सेना से पुनः कब्जा किए गए क्षेत्रों में कम से कम 10 टार्चर रूम की खोज की है जिनका उपयोग यूक्रेन के लोगों को प्रताड़ित करने के लिए किया जाता था.

एएफपी की एक रिपोर्ट के मुताबिक यूक्रेन ने शुक्रवार को कहा कि उसने देश के पूर्वी क्षेत्रों  में कम से कम 10  टार्चर रूम की खोज की है जिनका उपयोग रूस द्वारा यातना के लिए किया जाता था. यूक्रेन ने उन क्षेत्रों को रूसी सेना से पुनः कब्जा किया था जिसके बाद ऐसे स्थानों का पता चल पाया है. यूक्रेन के पुलिस प्रमुख इगोर क्लाइमेंको ने एक ब्रीफिंग के दौरान कहा, “मैं खार्किव क्षेत्र में  कम से कम 10 यातना केंद्रों की मौजूदगी के बारे में बात कर सकता हूं.” उन्होंने कहा, “पूर्वोत्तर के एक शहर बालकलिया में दो यातना केंद्र पाए गए.

हाल ही में, अमेरिका ने कहा था रूस बड़े पैमाने पर फिल्ट्रेशन ऑपरेशन कर रहा है, जिसमें यूक्रनियों को हिरासत में लेने, पूछताछ करने और हजारों यूक्रेनियनों के साथ दुर्व्यवहार करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है और अमेरिका ने रूस के इस बर्ताव की कड़ी आलोचना की थी. बता दें कि क्रेमलिन इन कठोर ऑपरेशन्स को यूक्रेन के क्षेत्रों को अपने नियंत्रण में करने के प्रयासों के लिए महत्वपूर्ण मानता है, यूक्रेन के दुबारा कब्जा करने के बाद रूस का यह ऑपरेशन पूरी दुनिया के सामने आ गया है.

रूस ने शुरू किया ‘फिल्ट्रेशन ऑपरेशन’, हजारों यूक्रनियों को बना रहा बंधक, अमेरिका ने जल्द रोकने को कहा…

बता दें कि कब्जे वाले क्षेत्रों पर यूक्रेनी सैनिकों के वापस नियंत्रण को लेकर जेलेंस्की ने पश्चिमी सहयोगियों से हथियार डिलीवरी में तेजी लाने की अपील की है. यूरोप का सबसे बड़ा परमाणु संयंत्र ज़ापोरिज्जिया रूस के कब्जे में  है यहां आए दिन रूसी सैनिकों द्वारा गोलाबारी की जाती है जिस वजह से देश बिजली के संकट से जूझ रहा है. परमाणु संयंत्र आपात मोड में काम कर रहा है यह कभी भी तबाही ला सकता है. अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी ने परमाणु संयंत्र के चारों ओर एक सुरक्षा क्षेत्र बनाने का प्रस्ताव भी दिया है.

(रॉयटर्स और एएफपी के इनपुट के साथ)

Tags: America, Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.