हाइलाइट्स

17 सितंबर को देश मनाएगा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन
देश में नामीबिया से आएंगे चीते और होंगे कई कार्यक्रम
पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे देश की नई लॉजिस्टिक नीति का अनावरण

नई दिल्ली. 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन है. इस दिन पूरे देश में कई कार्यक्रम आयोजित होंगे. लेकिन, हो सकता है कि नामीबिया से आ रहे चीते लोगों का ध्यान इन सभी कार्यक्रमों से हटा लें और अपनी ओर आकर्षित कर लें. इन चीतों के भारत में आने के बावजूद शनिवार शाम एक और महत्वपूर्ण घटनाक्रम होगा, जो देश के विकास की दिशा-दशा तय करेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार शाम देश की नेशनल लॉजिस्टिक्स पॉलिसी का अनावरण करेंगे. इस पॉलिसी का उद्देश्य लॉजिस्टिक की लागत को जीडीपी के 8 फीसदी तक कम करना है.

एक उच्च अधिकारी ने न्यूज18 को बताया- यह लॉजिस्टिक सेक्टर में गेम चेंजर की तरह है. इसका उद्देश्य भारत की अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने और साल 2023 तक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तय मानकों को हासिल करने के साथ-साथ देश को लॉजिस्टिक हब बनाना है. देश की नई लॉजिस्टिक नीति का बड़ा उद्देश्य इसकी लागत को 13 फीसदी से कम कर 8 फीसदी करना है. इसके साथ-साथ देश की लॉजिस्टिक इंडेक्स परफॉर्मेंस को भी सुधारना है. इस नीति का उद्देश्य विश्व के टॉप 25 देशों के साथ खड़ा होना है.

8 महीनों से काम कर रही सरकार
अधिकारी ने बताया कि इस मुद्दे पर सरकार पिछले आठ महीनों से दिन-रात काम कर रही है. इसे लेकर 14 राज्यों से चर्चा हुई. गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और उत्तर प्रदेश ने स्टेट लॉजिस्टिक्स पॉलिसी बना ली है, जबकि 11 अन्य राज्य इस पर तैयारी कर रहे हैं. इस नई लॉजिस्टिक पॉलिसी से कार्यक्षमता, सेवा, मानव संसाधन, फ्रेमवर्क, कौशल विकास, लॉजिस्टिक शिक्षा और नई तकनीकों को अपनाने में लाभ होगा. इस पॉलिसी से अनावश्यक विभागों और कानून की पेचीदगियां कम होंगी और हर सेक्टर के लिए काम आसान हो जाएगा.

क्या होगा फायदा
बता दें, लॉजिस्टिक सेक्टर में वर्तमान में 2 करोड़ 20 लाख लोग काम कर रहे हैं. नई लॉजिस्टिक पॉलिसी के तहत इन लोगों के कौशल को और निखारा जाएगा और गुणवत्ता-कार्यक्षमता को बेहतर किया जाएगा. इसका उद्देश्य कौशल से भरपूर लोगों का समूह बनाना है. इसके तहत प्रयास किए जाएंगे कि चाहे लॉजिस्टिक सेक्टर के स्टेक हॉल्डर हों, सरकारी सेक्टर हों या प्राइवेट सेक्टर हों, सभी को एक साथ लाया जाएगा और लॉजिस्टिक की समस्या का सही समय पर हल किया जाएगा.

Tags: New Delhi news



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.